-->

DROPDOWN

SHIXAN.IN पर आपका स्वागत है आप हमारी पुरानी साईट देखने के लिये my.shixan.in पर जा सकते है.

हेल्लो मे बेंक से बोल रहा हुं कहकर लोगों के साथ धोखा करके एटीएम से पैसे कैसे निकाले जाते हैं जरूर पढ़िए

Advertisements


अगर आपके पास बैंक में खाता है अगर आपके पास एटीएम कार्ड है तो पूरा लेख जरूर पढ़ना दोस्तों भारत और भारत के बाहर बहुत ऐसे लोग हैं जो मेहनत नहीं करना चाहते और लोगों के साथ ठगी करके पैसे कमाते हैं कुछ लोग उनके झांसे में आ जाते हैं और अपने एटीएम कार्ड अकाउंट आदि की डीटेल उनको दे देते है और उनके साथ बहुुुत बडा धोखा होता है बैंक में पड़े सारे पैसे वो लोग ले जाते हैं आज हम पढ़ेंगे कि वह लोग हमारे पैसे बैंक से कैसे निकल देते हैं पैसे निकालने के बाद कोई कुछ नहीं कर सकता ऐसा क्यों होता है? वह लोग बहुत चालाक होते हैं वो लोग आपके पैसे तो निकालते हैं पर अपने बैंक अकाउंट में नहीं डालते इसीलिए गिरफ्त में नहीं आते. ऑनलाइन सामान खरीदने की कुछ साइट है जैसे कि अमेजॉन फ्लिपकार्ट स्नैपडील. वह लोग उसी साइट पर एक नकली अकाउंट बना देते हैं अकाउंट में नाम और पता दोनों गलत होता है वह लोग आपके पास से एटीएम की जानकारी मानते हैं हम बैंक से बोल रहे हैं ऐसा बोलते हैं जब भी वह लोग एटीएम का नंबर सीवीवी कोड (जो एटीएम के पीछे के पीछे लिखा तीन अक्षर का होता है) और एटीएम की एक्सपायरी डेट आप से मांगते हैं आप उनको सारी जानकारी देते हो तब वह लोग आपसे ओटीपी मांगते हैं ओटीपी मतलब वन टाइम पासवर्ड जो आपके मोबाइल में एसएमएस में आता है जैसे कि 829369 जैसा होता है आप उनको ओटीपी जैसे ही देते हो वह लोग ऑनलाइन सामान खरीदते हैं और कुरियर वालों से भी मिली भगत होती है कोरियर वाले जब भी वह सामान आता है तब उनको दे देते तो मोबाइल नंबर पता नेम सब कुछ गलत होने की वजह से वह लोग पुलिस की गिरफ्त में नहीं आते और हम कुछ भी नहीं कर सकते वह लोग जब भी ऐसा फ्रोड करते हैं तब कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन भी कोई संस्था का यूज़ करते हैं इसीलिए उन तक कभी कोई नहीं पहुंच सकता. तो हमें ध्यान रखना है जब भी कोई हमारे पास कॉल आता है और बोलता है कि मैं बैंक से बोल रहा हूं तो उनको कभी कोई डिटेल मत दो अगर वह कोई डिटेल मांगे तो अपनी ब्रांच से संपर्क करो अगर आप कोई डिटेल ऐसे लोगों को दे देते हो तो बैंक का नंबर रखो और हेल्पलाइन पर कॉल करके एटीएम कार्ड को तुरंत ब्लॉक करवा दो बैंक कभी किसी को कॉल नहीं करता इसीलिए कभी ऐसे लोगों की बातों में मत आओ आपके दूसरे दोस्तों को भी भेजो ताकि उनके साथ ही कभी धोखा ना हो जाए धोखा करने का एक नया तरीका भी सामने आया है वह लोग आपका सिम का डुप्लीकेट सिम निकाल कर आपके साथ धोखा कर सकते हैं 2 मिनट या 5 मिनट के लिए आपका नेटवर्क चला जाता है और सामने वाला आपका नंबर एक्टिवेट करके पैसे निकाल लेता पर इन सब से बचने के लिए आपके बैंक कोई भी की डिटेल किसी भी इंसान के साथ शेयर मत कीजिए कोई भी वेबसाइट पर बैंक की डिटेल मत दीजिए कोई अनजान वेबसाइट पर आप डिटेल दे देते हो तो भी आपके साथ धोखा हो सकता है इसीलिए बैंक की डिटेल देने से बचें जो भी भरोसेमंद साइट है उनका यूआरएल चेक कीजिए यूआरएल मतलब वेबसाइट का एड्रेस वह सही है या नहीं और चेक करने के बाद ही बैंक की डिटेल दीजिए. कई बार ऐसा होता है की डुप्लीकेट से पेज बनाया जाता है और आपके साथ धोखा किया जाता है तो वेबसाइट का एड्रेस ठीक है या नहीं है वह चेक करना बहुत ही जरूरी है कोई भी लिंक आपके मोबाइल पर आते हैं उसने बोलते हैं ₹1 में टी शर्ट ₹2 में पेनड्राइव आप भी सोचिए क्या यह क्या ₹2 आया ₹5 कुछ मिल सकता है? वह लोग आप को गुमराह कर रहे हैं आप इस लिंक को शेयर भी करते है? आप लिंक को जब ओपन करते हैं तब फोन में जो भी डाटा स्टोर होता है वह उन लोगों तक पहुंच जाता है फोन में कुकीज स्टोर होती है जब भी आप कोई ट्रांजैक्शन करते हैं तो उनका डाटा कुकिंग मैं स्टोर होता है और वह लोग आसानी से आपके आपके बैंक अकाउंट तक पहुंच जाता है तो इन सब से दूर रहिए फिर भी अगर आपके साथ कोई धोखा हो जाता है तो आप बैंकिंग लोकपाल का संपर्क कर सकते हैं मैं यहां पूरे भारत के बैंकिंग लोकपाल के नंबर और एड्रेस शेयर कर रहा हूं

BANKING LOKPAL NUMBER AND ADDRESS CLICK HERE

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो दोस्तों के साथ शेयर कीजिए और नीचे आपके लिये न्युज का बटन है वहां पर क्लिक करके सब्सक्राइब कीजिए हम और भी अच्छी जानकारी आप तक पहुंचाने का प्रयास करेंगे

जय हिंद…..